RANCHI: स्टेट का सबसे बड़ा अस्पताल रिम्स अक्सर अव्यवस्थाओं को लेकर सुर्खियों में बना रहता है. कभी डॉक्टर व मरीज के परिजनों में मारपीट, तो कभी स्टाफ्स की मनमानी. ताजा मामला लिफ्ट मैन का है, जिसने एक प्रसूता की जान ले ली. करीब आधे घंटे तक लेबर पेन से ट्रॉली पर महिला तड़पती रही लेकिन लिफ्टमैन ने एक न सुनी. नतीजन, जब तक प्रसूता को ऑपरेशन थियेटर पहुंचाया जाता तब तक रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया. इस तरह एक मां के साथ उसके शिशु की भी मौत जन्म लेने से पहले ही हो गई. वहीं, शर्मसार करने वाली इस घटना पर रिम्स प्रशासन मामले की जांच के बाद कार्रवाई की बात कर रहा है.

क्या है मामला

रातू कांठीटांड़ की सुनिता देवी नामक एक महिला को लेबर पेन हो रहा था. इसके बाद उसके परिजन उसे लेकर रिम्स पहुंचे. जहां उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए डॉक्टर ने तत्काल गायनी डिपार्टमेंट में ले जाने को कहा. महिला को ट्राली में डालकर ट्रालीमैन ओटी लेकर जा रहा था. इस बीच वह लिफ्ट के आने का इंतजार कर रहा था. काफी आवाज देने के बाद भी लिफ्ट मैन ने मरीज को ले जाने से साफ इनकार कर दिया और खाने की ट्राली को ऊपर पहुंचाता रहा. इस बीच करीब आधे घंटे तक महिला प्रसव पीड़ा से तड़पती रही. वहीं, जब खाने की सभी ट्राली को लिफ्टमैन ने पहुंचा दिया तब जाकर प्रसूता को लेकर गया. लेकिन, तब तक काफी देर हो चुकी थीे और दर्द से तड़पती प्रसूता ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया.

वर्जन

ऐसी जानकारी तो मिली है. अब खाने की ट्राली को लिफ्ट से नहीं चढ़ाने का आदेश डायरेक्टर ने दिया है. वहीं मामले में पूछताछ के बाद ही खुलासा हो पाएगा कि किसकी वजह से इतनी बड़ी लापरवाही हुई है.

-डॉ. गोपाल श्रीवास्तव, डिप्टी सुपरिंटेंडेंट, रिम्स