किराए से पहले तीन दिन ठहरे थे होटल में

पति करता है सऊदी अरब में नौकरी, घर से रुपये लेकर आई थी

आगरा. थाना जगदीशपुरा के सरस्वती नगर में किराएदार महिला की हत्या के मामले में फिलहाल आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है. पति की गैर मौजूदगी में उसकी दोस्ती एक युवक से हो गई थी. दो सप्ताह पहले वह घर से50 हजार रुपये लेकर तीन बच्चों के साथ घर से निकल गई और तीन दिन तक एमजी रोड स्थित होटल में ठहरी थी.

शव पड़ा मिला था

जगदीशपुरा में स्थित सरस्वती नगर में तीन बच्चों के साथ किराए पर रहने आई महिला का शव कमरे में पड़ा मिला था. मृतका की शिनाख्त परवीन खातून पत्नी इमरान खान उर्फ बीनेश कुमार के रूप में हुई थी. आधार कार्ड में उसका पता मोहल्ला तालीबालन, आनंद पर्वत मध्य दिल्ली लिखा है. पुलिस ने तीनों बच्चों से पूछताछ की और उसका असली पता खोज निकाला.

परिजनों के पास आ गई थी महिला

वह बिहार के जिला मधुबनी, गांव बेटा परसा की मूल निवासी थी. शुक्रवार को थाने पहुंची महिला की मां रहीमा ने बताया कि पुत्री की शादी 10 साल पहले गांव के ही इमरान उर्फ बीनेश से हुई थी. पति लगभग डेढ़ साल पूर्व नौकरी करने सऊदी अरब चला गया. इधर, ससुराल वाले महिला का उत्पीड़न करने लगे तो वह बच्चों के साथ दिल्ली में रह रहे अपने परिजनों के पास आ गई.

पड़ोसी युवक से हुई दोस्ती

उसकी दोस्ती जियाउल नाम के युवक से हो गई. दो सप्ताह पहले वह उसे घुमाने के बहाने ले आया था. परवीना घर में किसी को बिना बताए 50 हजार रुपये और जेवरात ले आई थी. बच्चों ने पुलिस को बताया कि मां परवीना दोस्त के साथ तीन दिन तक आगरा कॉलेज के सामने एमजी रोड स्थित एक होटल में रुकी थी. इसी बीच जियाउल ने सरस्वती नगर में रामऔतार सक्सेना के यहां किराए पर कमरा ले लिया.

मर्डर कर रुपया लेकर हुआ फरार

परवीन और बच्चों को लेकर यहां रहने लगी. जियाउल ने 13 अगस्त की रात को बच्चों को छत पर सोने के एिल भेज दिया. इसके बाद मां की हत्या कर रकम लेकर फरार हो गया. इंस्पेक्टर रमेश भारद्वाज ने बताया फरार जियाउल की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं.

कोर्ट मैरिज की थी

परवीन ने बचपन के दोस्त बीनेश से कोर्ट मैरिज की थी. दोनों के धर्म अलग-अलग होने से परिवार के लोग इस शादी के खिलाफ थे. शादी के बाद बीनेश ने अपना नाम बदल कर इमरान रख लिया था.