बहराइच निवासी है महिला, ट्रेन की स्पीड स्लो होने से बच गए, लेकिन गंभीर रूप से घायल

kanpur@inext.co.in

KANPUR : रविवार को ट्रेन से महिला और उसके आठ माह के बच्चे को फेंकने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. ट्रेन की रफ्तार कम होने से दोनों बच तो गए, लेकिन गंभीर रूप से घायल हो गए. महिला ने पति और उसकी प्रेमिका पर ट्रेन से फेंकने का आरोप लगाया है. पुलिस ने महिला और बच्चे को हैलट में एडमिट कराया है. पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी.


मायके छोड़ने का झांसा दिया था

बहराइच के कन्हारा गांव निवासी दीनदयाल प्राइवेट काम करता है. परिवार में पत्नी नीलम और आठ महीने का बेटा शिवा है. नीलम का आरोप है कि दीनदयाल के सोनी नाम की महिला से अवैध संबंध है. इसको लेकर नीलम का अक्सर दीनदयाल से झगड़ा होता था. शनिवार शाम दीनदयाल नीलम और बेटे को लेकर घर से निकला था. उसने नीलम को गोंडा स्थित मायके छोड़ने का झांसा दिया था.


ट्रेन लखनऊ फाटक पहुंची थी कि..

वह नीलम को बहाने से लखनऊ ले गया. दीनदयाल के साथ सोनी भी थी. सुबह दीनदयाल नीलम और सोनी को लेकर कानपुर आने के लिए बरौनी एक्सप्रेस पर बैठ गया. ट्रेन लखनऊ फाटक पहुंची थी कि दीनदयाल और सोनी स्टेशन आने की बात कहकर नीलम को ट्रेन के गेट के पास ले गए. नीलम बेटे शिवा को गोद में उठाए थी. वह गेट पर खड़ी थी. तभी सोनी से नीलम को धक्का दे दिया. नीलम बेटे शिवा के साथ रेलवे ट्रैक पर गिर गई. पुलिस ने पीडि़ता के आरोपी पति और उसकी प्रेमिका की तलाश शुरू कर दी.


नीलम के पास एक रुपया भी नहीं है

हैलट में नीलम को वार्ड आठ में एडमिट किया गया है. उसकी देखभाल करने के लिए भी यहां पर कोई भी नहीं है. उसके पास एक रुपए भी नहीं है. वह रोते हुए बोल रही थी कि अब वह बच्चे को क्या खिलाएंगी.