नवरात्र शुरू होते ही बच्चे की चाहत में महिला की दी बलि

patna@inext.co.in
PATNA/SITAMADHI
: एक ओर मां दुर्गा की पूजा हो रही है वहीं दूसरी ओर सीतामढ़ी में अंधविश्वास के चक्कर में फैमिली के ही तीन मेंबर्स ने मिलकर महिला की बलि चढ़ा दी. पूछताछ में जानकारी मिली कि बच्चे की चाहत में तांत्रिक के कहने पर इस घटना को अंजाम दिया गया. घटना सीतामढ़ी के डुमरा थाना के शिवहर गांव में मंगलवार की रात घटी. एक तांत्रिक के कहने पर पति और देवर ने मिलकर सुविता देवी की बलि दे दी. पुलिस ने तांत्रिक के साथ ही पति और देवर को गिरफ्तार कर लिया है.

तांत्रिक ने बताया था डायन

पूछताछ में पता चला कि मृतका के देवर सुनील मुखिया की कोई संतान नहीं है. कुछ दिन पहले उसकी पत्नी को गर्भपात हो गया था. इसके बाद वह तांत्रिक के पास गया था. तांत्रिक हरजीत पासवान ने उससे बता दिया कि उसकी भाभी सुविता देवी डायन है. सुविता की वजह से ऐसा हो रहा है. इसके बाद सबने मिलकर मंगलवार को सुविता की बलि दे दी. पुलिस यह पता लगाने में लगी है कि महिला की हत्या में तांत्रिक शामिल था या नहीं.

तीन बच्चे की थी मां

तीन बच्चों की मां की गला रेत कर हत्या कर दी गई. पति भगवान मुखिया ने कुल्हारी के प्रहार से हत्या करने का आरोप अपने भाई सुनील मुखिया पर लगाया था. जबकि सुनील मुखिया ने भगवान मुखिया पर चाकू से गोदकर पत्नी की हत्या का आरोप लगाया था. पुलिस ने भगवान मुखिया और सुनील मुखिया तथा वीर मुखिया को अरेस्ट कर लिया है. जब तीनों से सख्ती से पूछताछ की गई तो यह खुलासा हुआ कि तांत्रिक के कहने पर सबने मिलकर सुविता की बलि चढ़ा दी. जिसके बाद पुलिस ने तांत्रिक हरजीत को भी गिरफ्तार कर लिया है.