- जीपीओ पहुंची महिला ने बयां किया अपना दर्द

- हजरतगंज कोतवाली में तैनात है दारोगा

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : हजरतगंज थाने में तैनात एक दरोगा पर महिला ने यौन शोषण का आरोप लगाया है. कई बार पुलिस से शिकायत करने के बाद भी जब महिला को न्याय नहीं मिला तो वह हजरतगंज चौराहा स्थित जीपीओ पहुंची और अपनी दर्द सुनाया. आरोप लगाया कि दरोगा भूपेन्द्र सिंह ने उसे अपने प्यार के जाल में फंसाया और बाद में धोखा दे दिया.

फेसबुक पर हुई थी दोस्ती अलीगढ़ निवासी युवती का कहना है कि वह एक सरकारी विभाग में तैनात है. बुधवार को हजरतगंज के जीपीओ पहुंची युवती ने हजरतगंज कोतवाली में तैनात दरोगा भूपेन्द्र सिंह पर गंभीर आरोप लगाया. युवती का कहना है कि उसकी और दरोगा की जान पहचान फेसबुक के माध्यम से हुई थी. इसके बाद दरोगा ने उसको अपने प्यार के जाल में फंसा लिया और शादी करने की बात कही.

मंदिर में शादी करने का लगाया आरोप

युवती का आरोप है कि इसके बाद दरोगा ने हजरतगंज के एक होटल में उसके साथ शारीरिक संबंध बनाये. वर्ष 2016 में दरोगा ने उसके साथ मंदिर में शादी कर ली. इसके बाद दोनों लोग एक साथ लखनऊ में बतौर पति पत्नी रहने लगे. कुछ समय गुजरने के बाद दरोगा का युवती से मोहभंग हो गया और उसने दूरी बना ली.

दूसरी शादी की कर रहा था तैयारी

युवती का आरोप है कि इस बीच दरोगा व उसके घरवालों ने कौशाम्बी जनपद में एक युवती से उसकी शादी तय कर दी. युवती को जब इस बात का पता चला तो वह कौशाम्बी में लड़की वालों से बात की. इस पर दरोगा का रिश्ता टूटा गया. इसके बाद दरोगा व उसके परिवार के लोग महिला को परेशान करने लगे.

एसएसपी से पहले भी कर चुकी शिकायत

पति व ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आकर युवती ने 29 अप्रैल वर्ष 2017 को इस बात की शिकायत एसएसपी लखनऊ से की थी. एसएसपी के आदेश पर जांच करायी गयी तो दरोगा ने अपनी गलती मानते हुए पीडि़ता के साथ आगे से कोई गलत व्यवहार न करने की बात कही और अपनी शिकायत वापस लेने के लिए कहा. दरोगा के आश्वासन पर युवती ने अपनी शिकायत वापस ले ली थी. युवती का आरोप है कि इसके बाद 10 फरवरी को उसके साथ दोबारा से मारपीट की और उसको घर से निकाल दिया. युवती का कहना है कि अब उसको जान से मारने की धमकी मिल रही है.

बाक्

सीओ हजरतगंज को जांच के आदेश

दरोगा पर यौन शोषण का आरोप ट्विटर पर वायरल होने पर यूपी पुलिस ने मामले को संज्ञान लिया है. डीजीपी के निर्देश पर पूरे मामले की जांच सीओ हजरतगंज को सौंपी गई है. आईजी सुजीत पांडेय ने कहा कि मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाएगी. दोषी पाए जाने पर दरोगा के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी. वहीं देररात एसएसपी दीपक कुमार ने मामले का संज्ञान लेकर आरोपी दरोगा को लाइन हाजिर कर जांच के आदेश दिये हैं.