आई स्पेशल

नंबर गेम

50 पिंक बसें प्रदेश में चलाई जाएंगी

10 बसें प्रथम चरण में चलाने की तैयारी

2 बसें लखनऊ से दिल्ली जाएंगी

- पहले चरण में दस बसें चलाने की तैयारी

- दो बसें राजधानी से दिल्ली तक चलाई जाएंगी

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: प्रदेश में महिलाओं का सफर जल्द ही सुरक्षित और आसान हो जाएगा. परिवहन निगम की देखरेख में निर्भया फंड से आने वाली पिंक बसों का संचालन दिसंबर माह से शुरू होगा. पहले चरण में दस बसों के संचलन की तैयारी की गई है. जिसमें से दो बसें लखनऊ से दिल्ली तक चलाने की तैयारी कर ली गई है. इन बसों का संचालन आलमबाग और कैसरबाग दोनो बस अड्डों से किया जाएगा.

किया जा रहा प्रचार

परिवहन निगम पिंक बसों का प्रचार-प्रसार भी कर रहा है. महिला स्कूल, कॉलेजों के साथ ही विभिन्न संस्थानों में इन बसों की खूबियां बताई जा रही हैं. महिलाओं को भरोसा दिया जा रहा है कि इन बसों में उनका सफर पूरी तरह सुरक्षित रहेगा.

तय कर रहे टाइम

निगम के अधिकारी इन बसों की टाइमिंग निर्धारित करने की तैयारी कर रहे हैं. इन बसों को कहीं से भी देर रात रवाना नहीं किया जाएगा साथ ही अपने गंतव्य पर भी ये रात में नहीं पहुंचेंगी. माना जा रहा है कि इन बसों की रवानगी का अंतिम टाइम रात नौ बजे से पहले ही रखा जाएगा.

किराए में भी मिलेगी छूट

पिंक बसों में सफर करने वाली महिलाओं को किराए में भी छूट देने की तैयारी है, जिससे इनका संचालन सफल हो सके. इन बसों के लिए राजधानी में कई बोर्डिग प्वॉइंट बनाए जाने हैं. शहर से बाहर निकलने के बाद बीच रास्ते में इस बस में यात्रियों को नहीं बैठाया जाएगा. यही नहीं जब ये बसें बस स्टेशन के अंदर आएंगी तो इसकी जानकारी स्टेशन इंचार्ज को देनी होगी.

बाक्स

तो होगा एक्शन

अगर पिंक बस का परिचालक बस अड्डे के बाहर यात्रियों को बस में बैठाता है तो उसे तुरंत हटा दिया जाएगा. ऐसा यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए किया जाएगा. इन बसों में लगे सीसीटीवी कैमरे और पैनिक बटन से किसी भी अप्रिय घटना में तुरंत मदद मिल सकेगी.

कोट

पिंक बसों का संचालन दिसम्बर तक शुरू हो जाएगा. इन बसों में सुरक्षा के साथ ही यात्रियों को समय से लाने-ले जाने की व्यवस्था की गई है. कुल 50 पिंक बसों का संचालन किया जाना है. इसमें दस बसों का संचालन राजधानी से किया जाएगा.

पल्लव बोस, आरएम लखनऊ

परिवहन निगम