JAMSHEDPUR: पूर्वी सिंहभूम जिले के मानगो थाना क्षेत्र की एक तलाकशुदा महिला ने मानगो आजादनगर निवासी मो. जावेद के खिलाफ शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने तथा जबरन गर्भपात कराने का मामला थाने में दर्ज कराया है. पुलिस को दिए बयान में पीडि़ता ने कहा है कि उसकी शादी 5 नवंबर, 2012 को जमुई (बिहार) में हुई थी. पति कुवैत में नौकरी करते थे और वह अपने मायके जमशेदपुर में रहती थी. मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार उसके पति, पिता बनने के काबिल नहीं थे. इस वजह से ससुरालवाले तथा अपने माता-पिता की सहमति से 7 अक्टूबर, 2017 को पति से तलाक ले लिया. उस समय परिजनों के अलावा साक्षी के रूप में मानगो निवासी मो. जावेद ने अपना हस्ताक्षर किया था. वह मेरे ही फ्लैट में रहता था. जावेद मेरे परिवार से नजदीकियां बढ़ाने लगा. इस दौरान उसने मुझसे निकाह करने का प्रस्ताव दिया, जिसे मैं और मेरे माता-पिता स्वीकार कर लिया. इसके अलावा जावेद के पिता मो. इस्माइल तथा उसकी मां फातिमा बीबी ने भी स्वीकृति प्रदान कर दी.

पांच लाख की डिमांड की

परिवार के सहमति से एक दिन जावेद मुझे और मेरी मां-बहन तथा भाई को हैदराबाद घुमाने के लिए ले गए. जहां हम सब हैदराबाद में होटल में 15 नवंबर 2017 से 20 नवंबर 2017 तक ठहरे. इस दौरान जावेद ने जल्द शादी करने की बात कहते हुए मेरे साथ होटल के कमरे में शारीरिक संबंध स्थापित किया. इसके बाद 20 नवंबर 2017 को कोलकाता आए. इसके बाद उसने कई मौके पर उसने मुझसे शारीरिक संबंध बनाया. कई बार जावेद की पत्‍‌नी हम दोनों को हमबिस्तर देख चुकी थी. उसने कभी कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की. पीडि़ता के अनुसार मई 2018 में दो माह की गर्भवती हो गई और अपने बच्चे को जन्म देना चाहती थी. तब मैंने जावेद से शादी करने को कहा तब उसने कुछ मजबूरियां बताते हुए बाद में शादी करने का आश्वासन दिया. उसके माता-पिता ने भी मुझे समझाया कि बाद में निकाह करवा देंगे. इसके बाद मेरे मर्जी के बगैर जावेद मुझे गर्भ निरोधक दवाई खिला दी. इसके बाद जावेद ने मुझे नर्सिग होम में 22 मई 2018 को भर्ती करा दिया. जहां जावेद ही रिस्कबांड पर मुझे 24 मई को डिस्चार्ज कराया. इसके बाद 8 जुलाई 2018 को मेरे पिता सउदी अरब से आए और उन्होंने जावेद के माता-पिता से विवाह के बारे में बात की तो उन लोगों ने पांच लाख रुपये की डिमांड कर दी. 16 अगस्त 2018 को उसने शारीरिक संबंध बनाया. इसके बावजूद वह यह कहते हुए शादी से इन्कार कर दिया कि मेरे माता-पिता की डिमांड पूरा होने पर ही शादी करेंगे.