- पहली से पांचवीं के 3373 छात्र-छात्राओं को नहीं मिली अंग्रेजी की कार्य पुस्तिका रेनबो-3

- डीआईओएस ने छात्र संख्या भेजकर बीएसए से की किताब उपलब्ध कराने की मांग

बरेली :

नए शिक्षा सत्र शुरू हुए एक महीना बीत चुका है, लेकिन माध्यमिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में संचालित प्राइमरी तक की क्लासेज के स्टूडेंट्स को अब तक अंग्रेजी की वर्क बुक रेनबो-3 नहीं मिल सकी है। जिस पर डीआईओएस ने बीएसए को पहली से पांचवी तक के छात्र-छात्राओं की संख्या भेजकर जल्द किताब उपलब्ध कराने के लिए कहा है।

3373 स्टूडेंट्स को नहीं मिली वर्क बुक

बेसिक शिक्षा निदेशक ने राष्ट्रीय पुस्तकों के तहत संकल्प फाउंडेशन की ओर से विकसित अंग्रेजी विषय की कार्य पुस्तिका रेनबो-3 को अंग्रेजी माध्यम के विद्यालयों में पायलट प्रोजेक्ट के तहत लागू किया गया। लेकिन अभी तक यह कार्य पुस्तिका पहली से पांचवीं तक 3373 विद्यार्थियों के हाथों में नहीं पहुंचने पर अफसरों ने चिंता जताई है। जिसमें पहली कक्षा में 526, दूसरी में 669, तीसरी में 737 चौथी में 762, पांचवी में 819 छात्र- छात्राएं शामिल हैं।

इन विद्यालयों के छात्रों को नहीं मिली

एफआर इस्लामियां, गुरु गोविंद सिंह, गुरु नानक खालसा, आर्य पुत्री, द्रौपदी कन्या, स्त्री सुधार, गुरु नानक रिक्खी सिंह, महावीर प्रसाद, मैथोडिस्ट, श्री रघुवीर सहाय, श्याम सुंदर कन्या इंटर कॉलेज फरीदपुर कुवंर ढाकन लाल इंटर कॉलेज सहोडा मीरगंज, गांधी व खलील उच्चतर माध्यमिक विद्यालय शाही के छात्रों को अभी यह किताब नहीं मिली हैं।