GORAKHPUR: पूवरंचल में रहने वाले करीब दो करोड़ की आबादी के लिए अच्छी खबर है. एम्स के ओपीडी का निर्माण गति तेज हो गई है. नींव तक निर्माण का काम पूरा हो गया है. ओपीडी ब्लॉक का निर्माण मार्च तक पूरा हो जाएगा. आगामी अप्रैल से ओपीडी शुरू हो सकती है. एम्स परिसर में ही तीन मंजिला ओपीडी ब्लॉक का निर्माण चल रहा है. इसमें 50 कमरे होंगे. आला अधिकारियों से संकेत मिलने के बाद ओपीडी के निर्माण में हाइट्स और कार्यदायी संस्था एलएनटी के इंजीनियरों ने दोगुनी ताकत लगा दी है. दिन और रात काम चल रहा है. इधर बरसात न होने से इंजीनियरों ने राहत की सांस ली है. करीब तीन महीने में नींव के निर्माण का काम पूरा हो गया है.

भवन में होंगे 118 पिलर

ओपीडी ब्लॉक में ओपीडी के साथ ही एक्सरे, अल्ट्रासाउंड, सीटी स्कैन, एमआरआई और पैथोलॉजी जांच की सुविधा होगी. इसके लिए ओपीडी ब्लॉक को बेहद मजबूत बनाया जा रहा है. ओपीडी भवन में 118 पिलर बनाए जा रहे हैं. जिसके कारण यह साढ़े आठ से नौ रिक्टर स्केल तक के भूकंप के झटके को बर्दाश्त कर सकेगा.

लोकसभा चुनाव से पहले शुरू हो सकती है ओपीडी

एम्स का निर्माण वर्ष 2020 के मध्य तक पूरा होगा. माना जा रहा है कि केंद्र सरकार 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले ओपीडी का संचालन शुरू कर सकती है. इसके संकेत सीएम योगी आदित्यनाथ भी दे चुके हैं.