छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: वर्कर्स कॉलेज में सोमवार को छात्र संगठनों के आपस में भिड़ने के बाद मंगलवार की दोपहर प्रिंसिपल डॉ. बीएन प्रसाद की अध्यक्षता में बैठक आयोजित हुई. इसमें चुने हुए छात्र संघ के पदाधिकारी और कॉलेज कोर कमेटी के सदस्य उपस्थित थे. बैठक में ही बैनर को लेकर विवाद उत्पन्न होने पर यह निर्णय लिया गया कि बैनर न तो हरा रंग का होगा और न ही केसरिया. बैनर का रंग सफेद रहेगा, इसमें लिखावट नीला रंग से रहेगा. इसके अलावा इस बैनर में एक तरफ स्वामी विवेकानंद की फोटो तो दूसरी तरफ भगवान बिरसा मुंडा की फोटो रहेगी.

शैक्षणिक विकास में सहयोग करें

इसके बाद छात्र संघ कार्यालय की चाबी को लेकर उपजे विवाद को ठंडा कर दिया गया. निर्णय लिया गया कि अभाविप के समर्थक अध्यक्ष के पास एक चाबी और एक चाबी छात्र आजसू के समर्थक सचिव के पास रहेगी. तीसरी चाबी कॉलेज प्रबंधन के पास रहेगी. इसके बाद बुधवार से छात्र संघ का कार्यालय खोलने की बात कही गई. प्राचार्य ने सभी संगठनों को मिलजुलकर कॉलेज के शैक्षणिक विकास में सहयोग करने की अपील की. बैठक में मुख्य रूप से कॉलेज कोर कमेटी के सदस्यों में डॉ. एके महापात्र, डॉ. एके मेहता, डॉ. एके पाठक, डॉ. प्रीतिबाला के अलावा छात्र संघ के अध्यक्ष सत्यनाथ प्रमाणिक, उपाध्यक्ष शुभम कुमार झा, सचिव गौतम कुमार सिंह, संयुक्त सचिव बिजय कुमार महतो, उप सचिव संगीता बनर्जी, विश्वविद्यालय प्रतिनिधि सागर ओझा उपस्थित थे. इससे पूर्व अभाविप और छात्र आजसू ने प्रिंपिसल पर संगठन विशेष के पक्ष में काम करने का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत केयू की वीसी से की.