अवेयर करने की बहुत जरूरत
फिल्‍म सिटीलाइट्स की लीड एक्‍ट्रेस पत्रलेखा ने इस सब्‍जेक्‍ट पर बात करते हुये कहा कि, 'हमारा समाज दो वर्गों में बंटा हुआ है. हम रूरल एरिया में तो इस पर बात कर ही नहीं सकते, इसके साथ ही अर्बन एरियास में भी कुछ लिमिटेशन हैं. असुरक्षित यौन संबंध से न जाने कितने लोग इस गंभीर बीमारी का शिकार बने हुये हैं. ऐसे में हम लोगों को मिलकर जागरुकता फैलानी होगी. हालांकि यहां तक कि हमारी फिल्‍म इंडस्‍ट्री में भी कुछ फिल्‍में ही सेक्‍स एजुकेशन और एड्स पर बेस्‍ड होती है. हमें इस सब्‍जेक्‍ट को लोगों तक पहुंचाना होगा. फिलहाल सेक्‍स को लेकर मूवी बनाना आसान नहीं है, इसके लिये सर्टिफिकेट से लेकर डिस्‍ट्रीब्‍यूटर लेवल तक कई परेशानियां सामने आती हैं.'

हम एक सफल प्रयास कर सकते हैं
विक्‍की डोनर जैसी बोल्‍ड सब्‍जेक्‍ट पर बनी फिल्‍म के लीड एक्‍टर आयुष्‍मान खुराना का मानना है कि, 'हमारा समाज जिस तरह से आगे बढ़ रहा है, उसे देखकर हम सभी लोगों को अपने विचारों में बदलाव लाना चाहिये. सेक्‍स को लेकर युवाओं में कई सारे कंफ्यूजन रहते हैं. हमें जरूरत है कि इस तरह के कंफ्यूजन को दूर किया जाये. हमने विक्‍की डोनर मूवी बनाकर कुछ हद तक प्रयास किया था, लेकिन हमें इससे आगे बढ़कर कुछ नया सोचने पर ध्‍यान देना चाहिये. हमें वेस्‍टर्न कल्‍चर से कुछ सीखना चाहिये, वहां पर सेक्‍स को लेकर किसी भी प्रकार का हेजिटेशन नहीं होता है. हमें भी इसी तरह के माहौल बनाने की जरूरत है.'

यंगस्‍टर्स लायेंगे बदलाव
बॉलीवुड एक्‍ट्रेस कल्कि कोचलीन ने भी सेक्‍स को लेकर खुलकर बोला. उन्‍होंने कहा, 'हमारी यंग जनरेशन इस बात को लेकर काफी जागरुक है. वे सेक्‍स को लेकर खुलकर बात करने में कोई हिचक नहीं रखते हैं. हालांकि मुझे उम्‍मीद है कि नेक्‍स्‍ट जनरेशन सेक्‍स से जुड़ी सभी प्रिकॉशंस और सेफ्टी को अच्‍छी तरह से जानते होंगे.

Hindi News from Bollywood News Desk

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk