-ट्वीट कर पैसेंजर ने की कम्प्लेन, दी जा रही कच्ची रोटी और खराब सब्जी

-कुछ दिन पहले एक दर्जन से अधिक पैसेंजर्स ने की थी शिकायत

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ देश की पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस में पैसेंजर्स को फाइव स्टार होटल का खाना दिया जाएगा। फूड क्वॉलिटी को लेकर पैसेंजर्स कम्प्लेन नहीं कर सकेंगे। वंदे भारत एक्सप्रेस की शुरुआत के दौरान यही दावा किया गया था। लेकिन अब वंदे भारत एक्सप्रेस में भी पैसेंजर्स को बेकार, सड़ा हुआ और कच्चा खाना सर्व किए जाने की शिकायतें शुरू हो गई है। शनिवार को वंदे भारत एक्सप्रेस में सफर कर रहे एक पैसेंजर ने ट्विटर पर रेलमंत्री ने ट्रेन में कच्ची रोटी और कच्चा चावल सर्व किए जाने की शिकायत की।

कच्चा पराठा और कच्चा चावल

15 जून की रात वंदे भारत में खराब खाने की कंप्लेंट हुई है। शनिवार को वाराणसी से नई दिल्ली जा रही वंदे भारत एक्सप्रेस के सी-2 कोच में सीट नंबर 53 पर सफर कर रहे पैसेंजर पीयूष सिंह ने वंदे भारत एक्सप्रेस में कच्चा पराठा और कच्चा चावल सर्व किए जाने की कम्प्लेन ट्विटर के जरिए रेल मंत्री, आईआरसीटीसी और पीएमओ से की है।

आईआरसीटीसी नार्थ जोन को जांच का आदेश

पैसेंजर की कम्प्लेन को इंडियन रेलवे ने गंभीरता से लेते हुए री-ट्वीट करते हुए आईआरसीटीसी नार्थ जोन को जांच का आदेश दिया है। गौरतलब है इससे पूर्व नौ जून को वाराणसी से नई दिल्ली जा रही वंदे भारत एक्सप्रेस के एग्जीक्यूटिव क्लास में पैसेंजर्स को सड़ा व बदबूदार खाना सर्व किया गया था। डिब्बा बंद खाने में बदबू आ रही थी। पनीर और पराठे की गुणवत्ता खराब थी, चावल भी कच्चा था। इसकी कम्प्लेन ट्रेन में सफर कर रहीं केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के साथ ही कोच में सफर कर रहे कथावाचक आचार्य शांतनु महाराज, आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर अमेय करकरे, बीएनडी कॉलेज के प्राचार्य डॉ। विवेक द्विवेदी, सीएसजेएम यूनिवर्सिटी के सिस्टम मैनेजर डॉ। सरोज द्विवेदी, इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के डॉ। अभिषेक ने की थी। नौ जून को हुए कम्प्लेन की जांच आईआरसीटीसी ने शुरू कर दी है।