JAMSHEDPUR: जेवियर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट में सोमवार से नए सत्र की शुरुआत हुई. जिसमें 543 नए विद्यार्थियों ने देश के सर्वश्रेष्ठ बिजनेस इंस्टीट्यूट के बारे में जाना. 2018 सत्र में बिजनेस मैनेजमेंट में 181, ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट में 182, जनरल मैनेजमेंट प्रोग्राम में 105, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट में 45, फेलो प्रोग्राम इन मैनेजमेंट में 10, एक्जीक्यूटिव फेलो प्रोग्राम में 20 विद्यार्थियों ने दाखिला लिया.

चुनौतीपूर्ण दौर है

नए सत्र की शुरुआत में संस्थान के निदेशक फादर ई अब्राहम, डॉ. आशीष पानी, फादर जेरी कुटिन्हा ने विद्यार्थियों का स्वागत किया. फादर ई अब्राहम ने कहा कि वर्तमान में भारत अपने सामाजिक-आर्थिक संक्रमण के बहुत ही चुनौतीपूर्ण दौर से गुजर रहा है. हम भौगोलिक व राजनीतिक परिवर्तनों के बीच में हैं, जो जटिल और अप्रत्याशित दोनों हैं. पोस्ट-टंप, पोस्ट-ब्रेक्सिट और तेल की कीमतों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी के बाद ऐसा लगता है कि हमारे जैसे राष्ट्र व शैक्षणिक संस्थान मैक्रो सामाजिक-आर्थिक बदलाव से गुजर रहे हैं. उन्होंने कहा कि एक्सएलआरआइ एक उच्च शिक्षा संस्थान होने के अलावा भी एक सामाजिक संस्थान है. हमें अपनी जिम्मेदारियों को एक सामाजिक इकाई के रूप में करना है. फादर अब्राहम ने नए छात्रों को सामाजिक व व्यापारिक चुनौतियों को संबोधित करने और एक्सएलआरआई में अपने उद्यमशील सपने को आगे बढ़ाने के बारे में सोचने की सलाह दी.

सही मूल्यों की जानकारी

डॉ. आशीष के पाणि ने कहा कि यह संस्थान अपनी अकादमिक उत्कृष्टता के साथ-साथ छात्रों को पाठ्यक्त्रमों के माध्यम से सही मूल्यों की जानकारी देता है. पहले वर्ष के छात्रों को एक्सएलआरआइ के अनिवार्य विलेज एक्सपोजर प्रोग्राम और आउटबाउंड प्रोग्राम के लिए भी लिया जाएगा. ग्रामीण कार्यक्रमों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए दोनों कार्यक्रम विशेष रूप से छात्रों के लिए डिजाइन किए गए हैं.