CHAIBASA: मृतक की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है. उम्र करीब 28 साल बतायी जा रही है. पुलिस मृतक की पहचान के लिए लोगों से पूछताछ कर रही है. इस हत्याकाड को संभवत: तीन दिन पहले अंजाम दिया गया है. दरअसल, हत्या के बाद युवक के शव को जतरा बोंगा के जंगल में फेंक दिया गया था. ग्रामीणों से सूचना मिलने के बाद मुफस्सिल थाने की पुलिस ने मंगलवार को जंगल से शव को बरामद कर लिया है. पहचान नहीं हो पाने की वजह से अब तक हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है. मुफस्सिल थाना प्रभारी दिग्विजय सिंह ने बताया कि शव पूरी तरह सड़-गल चुका है.


पोस्टमार्टम के लिए भेजा

गांव में किसी को भी इस युवक के बारे में कोई जानकारी नहीं है. ऐसा प्रतीत होता है कि युवक की हत्या के बाद पहचान छुपाने के लिए शव को जंगल में फेंक दिया गया. शव को पोस्टमार्टम के लिए चाईबासा सदर अस्पताल भेजा गया है. वहा से रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई शुरू की जाएगी. फिलहाल पुलिस शव की पहचान कराने का प्रयास कर रही है. इस संबंध में गांव के मुंडा गोविंद पुरती के बयान पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है. मुंडा ने पुलिस को दिए बयान में कहा है कि मंगलवार की सुबह गांव की कुछ महिलाएं जंगल की ओर गई थी. उन्हीं लोगों ने जंगल में सड़ा-गला शव देखकर उसे सूचित किया.