jamshedpur@inext.co.in
JAMSHEDPUR: जुगसलाई थाना क्षेत्र गौरीशंकर रोड ईदगाह मैदान से सटे आजाद खटाल के पास बदमाशों ने 18 वर्षीय मो. तौसिफ गोली मार दी. मौके पर मौजूद लोगों ने उसे टीएमएच में दाखिल कराया गया जहां चकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. घटनास्थल पर ताश के पत्ते पड़े मिलने से पुलिस का संदेश जुआ के चलते लड़ाई का लग रहा है. जबकि परिजनों ने हत्या का कारण रंजिश बताकर जीशान उर्फ गुड्डू और सद्दाम पर हत्या का इल्जाम लगाया है. मृतक राजद नेता अब्बास अंसारी का रिश्तेदार है. मृतक के चाचा ने बताया कि तौसिफ ने दो वर्ष पहले साकची करीमिया स्कूल से मैट्रिक की परीक्षा पास की थी. मृतक जुगसलाई महतो पाड़ा रोड हिलव्यू एरिया निवासी मो. आलमगीर का पुत्र था. घटना के बाद सिटी एसपी प्रभात कुमार, डीएसपी विमल कुमार, बागबेड़ा इंस्पेक्टर लक्ष्मण प्रसाद समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचकर मृतक के परिजनों से मिले. हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर देर रात तक इलाके के लोगों की भीड़ थाना में लगी रही. घटना से क्षेत्र में काफी आक्रोश है.

तौसिफ को फोन कर बुलाया गया

परिजनों के अनुसार बुधवार दोपहर तौसिफ घर पर खाना खा रहा था. किसी ने फोन कर उसे बुलाया. उस समय दोपहर के तीन बज रहे थे. खाना खाने के बाद वह घर से चल गया. दोपहर साढ़े तीन बजे के करीब कोई एक युवक घर पर पहुंचा. परिजनों को बताया कि तौसिफ को गोली लगी है. वह छटपटा रहा है. परिवार वाले उसे टीएमएच ले गए.

जीशान आपराधिक मामले में जा चुका हैं जेल

तौसिफ की हत्या में जीशान उर्फ गुड्डू नामक जिस युवक का नाम सामने आ रहा है. वह आपराधिक मामले में जेल जा चुका है. जुगसलाई थाने में उसके खिलाफ तीन मामले दर्ज है. बिष्टुपुर थाना में भी उस पर मुकदमा है.

परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल, बस्ती में मातम

मो. तौसिफ की टीएमएच में मौत की जानकारी पर उसकी मां, बहन और रिश्तेदारों का रो-रोकर बुरा हाल था. वही जुगसलाई रिवर व्यू कॉलोनी में मातम पसरा रहा. तौसिफ तीन भाइयों में मंझला था. बड़ा भाई मो. आसिफ और छोटा भाई तनवीर आलम हैं.

नशेडि़यों का अड्डा हैं आजाद खटाल के पास

लोगों की माने तो गौरीशंकर रोड स्थित आजाद खटाल और इसके आस-पास का क्षेत्र नशेडि़यों का अड्डा हैं. हमेशा नशेडियों की भीड़ लगी रहती है. शराब, गांजा, डेनराइट, टेबलेट की बिक्री की जाती है. जुआ अड्डा भी संचालित होता है. अड्डे पर जो युवक पहली बार आते है. नशेड़ी डराते-धमकाते है. रुपये की मांग करते है.

कॉल डिटेल खोल सकती है मर्डर का राज

पुलिस ने तौसीफ के मोबाइल को जब्त कर लिया है. जिसकी कॉल डिटेल खंगालने से पुलिस को अहम सुराग मिल सकते है. पुलिस का मानना है कि मोबाइल डिटेल से मालूम होगा वह कौन था जिसने तौसीफ को फोन कर मैदान में बुलाया था. अपराधी मारने के लिए पहले से ही प्लानिंग बनाकर बैठे थे. फोन आने के बाद तौसीफ का वहां तुरंत जाना किसी अपने या उसके मित्र की ओर ही इशारा करता है.