नाविकों की मदद से पुलिस ने बरामद की लाश, व्यापारी का इकलौता पुत्र था युवक

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: एक लकड़ी व्यापारी के इकलौते बेटे ने यमुना नदी में कूद कर शनिवार की सुबह खुदकुशी कर ली. सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया. सुसाइड की वजह देर शाम तक स्पष्ट नहीं हो सकी. पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव उसके परिजनों को सौंप दिया.

परिजनों में कोहराम

मुट्ठीगंज थाना क्षेत्र के हटिया निवासी रफीक अहमद की पुलिस चौकी के पास ही लकड़ी की दुकान है. उसका इकलौता बेटा शकील भी पिता के काम में हाथ बंटाता था. करीब डेढ़ साल पहले शकील का निकाह शाइस्ता परवीन से हुआ था. उसे एक बेटा भी हुआ. बताते हैं कि शनिवार सुबह तकरीबन सात बजे शकील बाहर से मकान का दरवाजा बंद करके बगैर कुछ बताए कहीं चला गया. सुबह देर तक वह नहीं लौटा तो परिजन तलाश में जुट गए. इसी बीच पुलिस को खबर मिली कि एक युवक यमुना नदी में कूद गया. सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस को वहां एक बाइक मिली. बाइक के आधार पर पुलिस को पता चला कि छलांग लगाने वाला युवक शकील है. बगैर देर किए पुलिस ने स्थानीय नाविकों की मदद से पानी में उसकी तलाश शुरू कर दी. अचानक नाविकों को पानी में उसका शव उतराते हुए दिखाई दिया. लाश को बाहर निकालने के बाद पुलिस ने जानकारी उसके परिजनों को दी. खबर मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया. रोते-बिलखते सभी पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे. एसओ कीडगंज एके सिंह ने कहा कि सुसाइड की वजह क्लीयर नहीं है. जांच की जा रही है.