- बाली उमर के मोहब्बत में पहुंच गए जेल

- माशूकाओं के घरवालों ने दर्ज करा दिया था केस

GORAKHPUR: मोहब्बत के मौसम में अपने से कम उम्र की माशूका संग प्यार करने का अंजाम आशिकों पर भारी पड़ रहा है. समाज की बंदिशें तोड़ने वाले प्रेमियों के पांव में कानून की बेडि़यां पड़ रही है. इश्क के फेर में एक हफ्ते के अंदर छह से अधिक प्रेमी सलाखों के पीछे पहुंच गए हैं. वैलेटाइन वीक में जेल में बंद प्रेमियों की रात आंखों में गुजर रही है. जेल अधिकारियों का कहना है कि रेप और अपहरण के आरोप में बंद ज्यादातर प्रेमी हैं. कानून और सामाजिक दायरों की दहलीज लांघने पर उन्हें जेल काटनी पड़ रही है.

रात में नहीं सोते बंदी, हो रही निगरानी

मोहब्बत के फेर में जेल भेजे गए बंदियों की निगरानी बंदी रक्षकों को करनी पड़ रही है. मोहब्बत के मारे आशिक एक ओर प्रेमिका के दगा देने से परेशान हैं तो दूसरी ओर जेल से निकलने के दिन गिनने में नींद नहीं आती है. जेल से जुडे़ लोगों का कहना है कि ऐसे प्रेमियों की रात चहल-कदमी में गुजर रही है. रात में जब अन्य बंदी सोते रहते हैं तो ये बंदी जागकर टहलते रहते हैं. इश्क के फेर में परेशान बंदियों की हालत को देखते हुए जेल प्रशासन ने निगरानी बढ़ा दी है. जेल अधिकारियों ने उन पर नजर रखने की हिदायत दी है.

मुलाकात के लिए चाहिए एकांत

जेल में बंद प्रेमी अपनी माशूका से मिलने की गुहार लगा रहे हैं. लेकिन कानूनी अड़चनों की वजह से इसकी इजाजत नहीं मिल रही है. कुछ ऐसे प्रेमी हैं, जो अन्य अपराधों में बंद हैं तो उनकी माशूकाएं मिलने भी पहुंच रही है. ऐसे जोड़े जेल के मुलाकात कैंपस में अलग जगह की डिमांड करते हैं. लेकिन जेल प्रशासन कोई सहूलियत देने के मूड में नहीं है. पूर्व में प्रेमी जोड़ों को मिलने की अलग जगह देने पर बवाल हो चुका है. इसको देखते हुए जेल प्रशासन ने इस पर रोक लगा दी है.

सात दिनों में सात आशिक पहुंचे जेल

जिले में सात दिनों के भीतर सात प्रेमियों को जेल भेजा जा चुका है. प्रेमियों के खिलाफ विभिन्न थानों में मुकदमा दर्ज कराया गया था. स्कूल जाने वाली छात्राएं, पड़ोस में रहने वाली किशोरियों से प्रेम करने में आशिकों के खिलाफ कार्रवाई हुई है. नाबालिग प्रेमिका के घर वालों ने आशिकों के खिलाफ अपहरण, रेप, पाक्सो एक्ट सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज करा दिया है. ऐसे प्रेमी भी जेल में पहुंचकर किसी तरह से बाहर आने की जुगत लगाने में लगे हैं.

हाल में सामने आए मामले

08 फरवरी 2018: हरपुर बुदहट पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया. उसने पुलिस को बताया कि फर्जी केस दर्ज कराया गया है. उसने खुद को बचाने की गुहार पुलिस से लगाई.

07 फरवरी 2018: गुलरिहा एरिया में एक युवक को पुलिस ने अरेस्ट किया. आरोपी जिस लड़की से प्रेम करता था. उसके घरवालों ने केस दर्ज करा दिया था.

06 फरवरी 2018: बेलघाट एरिया में एक युवक के खिलाफ केस दर्ज था. वह अपनी नाबालिग प्रेमिका को भगा ले गया था. उसे पुलिस ने अपहरण के आरोप में अरेस्ट किया.

05 फरवरी 2018: चौरीचौरा एरिया के एक गांव के युवक को पुलिस ने पकड़ा. उसके खिलाफ भी विभिन्न धाराओं में केस दर्ज था. उसने पुलिस वालों को बताया कि उसका प्रेम संबंध था. घर से भागने पर मुकदमा दर्ज हो गया.

04 फरवरी 2018: शाहपुर एरिया के जंगल सुभान अली में युवक को पुलिस ने अरेस्ट किया. उसके खिलाफ केस दर्ज कराया गया था. युवक का कहना था कि वह एक किशोरी से प्रेम करता था.

वर्जन

जेल में ऐसे कई युवक बंद हैं जिनके खिलाफ अपहरण और रेप का मामला दर्ज है. कई बार वह बताते हैं कि उनका प्रेम संबंध चल रहा था. लेकिन लड़की के घरवालों ने फर्जी केस दर्ज करा दिया. इस वजह से पुलिस ने उनको अरेस्ट कर जेल भेज दिया. इनमें कुछ ऐसे भी हैं जो किसी नाबालिग लड़की के अपहरण के आरोप में पकड़े गए हैं.

डॉ. रामधनी, वरिष्ठ जेल अधीक्षक