NOAMUNDI: नोवामुंडी थाना क्षेत्र के कादाजामदा दिउरी साई में रविवार को दिल दहलाने वाली घटना सामने आई। रिश्ते की चाची से अवैध संबंध के आरोपित की आक्रोशित लोगों ने भरी पंचायत में पीट-पीटकर मार डाला। घटना रविवार को दिन के करीब डेढ़ बजे की है। दरअसल चाची से अवैध संबंध पर फैसले के लिए पंचायत बैठी थी। पंचायत में महिला ने दिवगंत पति के रिश्ते के भतीजे से अवैध संबंध को स्वीकार कर लिया, लेकिन भतीजे ने सिरे से नकार दिया। फिर क्या था, ग्रामीणों ने उसे डंडे से पीटना शुरू कर दिया। पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। उसके बाद उसे नंगा कर गांव में घुमाने की तैयारी शुरू की, लेकिन जुलूस निकलने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया। देर शाम को मौके पर पहुंची पुलिस शव को लेकर थाने आ गई। पुलिस ने मृतक की बेटी व महिला के बेटे को थाने बुलाया है। देर रात तक प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही थी।

रंगे हाथों पकड़ा था

महिला के भतीजे गुरा पुरती ने बताया कि उसके चाचा सूबेदार पुरती का निधन छह साल पहले हुआ था। पति के निधन के बाद चाची का संबंध पिचुआ गांव के जेना पुरती (35) के साथ था। जेना रिश्ते में उसका भाई है। उसने बताया कि गत साल सितंबर महीने में गांव में आयोजित जोमनामा पर्व के दौरान सूबेदार पुरती की पत्नी और जेना पुरती को उसने और उसके भाई मंगल पुरती ने रंगे हाथों पकड़ा था। दोनों भाइयों ने मिलकर जेना पुरती की पिटाई कर दोबारा इस तरह की गलती नहीं करने की चेतावनी दी थी। फिर भी अवैध संबंध का दौर जारी रहा।

पकड़कर ले गए

इस बात की जानकारी से ग्रामीण नाराज हो गए और रविवार को दिउरीसाई प्राथमिक स्कूल प्रांगण में पंचायत आयोजित की गई थी। बैठक में दोनों को बुलाया गया था। जेना पुरती इमली बेचने के बहाने जगन्नाथपुर बाजार चला गया था। बाद में ग्रामीण उसे पदापहाड़ रेलवे स्टेशन से पकड़कर पंचायत में ले आये। पूछताछ के दौरान महिला ने अवैध संबंध को स्वीकारा परंतु जेना पुरती ने इस तरह का संबंध होने से इन्कार किया। इससे पंचायत में मौजूद ग्रामीणों ने लाठी डंडे से उसकी जमकर पिटाई की इससे उसकी मौत हो गई।

इलाके में सन्नाटा पसरा

दिउरी साई गांव में घटना के बाद सन्नाटा पसरा हुआ था। गांव बीहड़ जंगल में होने के कारण प्रशासनिक अधिकारी जल्दी जाना नहीं चाहते हैं। घटना के बाद देर शाम को पुलिस जब गांव पहुंची तो आसपास के लगभग सभी लोग गायब हो गए थे।

घटनास्थल से शव को थाने ले आया गया है। पूछताछ के बाद ही हकीकत सामने आएगी।

- अशोक कुमार, थाना प्रभारी, नोवामुंडी