patna@inext.co.in

PATNA : सपना था दारोगा बनने का. लिखित एग्जाम पास करने के बाद पूरा जोर फिजिकल एग्जाम में बाजी मारने को लेकर लगा दिया था. घर वालों को भी इस बार काफी उम्मीद थी लेकिन उसके तेजी से बढ़ते कदमों में वर्चस्व की लड़ाई में चली गोलियों ने बेड़ी लगा दी. वह हमेशा के लिए सो गया और घर वालों की हर उम्मीद टूट गई. यह कहानी है सहरसा के अमर कुमार की जो गोली का निशाना बन गया. अमर की मौत हो गई जबकि उदय प्रसाद व संजीत कुमार घायल हो गए है.

पिस गया होनहार

आशीष गुप्ता और राहुल शर्मा कदमकुआं में शारीरिक प्रशिक्षण का को¨चग चलाते हैं. आशीष के को¨चग में प्रशिक्षणार्थियों की संख्या अधिक होने से राहुल विचलित हो गया था. तीन दिन पूर्व राहुल ने आशीष को अन्यत्र ट्रे¨नग देने का दबाव बनाया था. गुरुवार सुबह आशीष द्वारा प्रशिक्षण देने के दौरान दोनों के बीच कहासुनी हुई है. इसी बीच राहुल के साथ आए बदमाशों ने फाय¨रग कर दहशत फैला दिया. इस घटना में अमर की मौत हो गई.