नई दिल्ली (पीटीआई)। इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह चुके भारत के बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज सिंह अब विदेशी टी-20 लीग में करियर बनाना चाहते हैं। इसके लिए युवी ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई से ओवरसीज टी-20 लीग में खेलने की इजाजत मांगी है। बता दें युवराज ने पिछले हफ्ते रिटायरमेंट के वक्त बताया था कि वह अब खेल को इंज्वाॅय करना चाहते हैं इसलिए टी-20 लीग में हाथ आजमा रहे हैं।

युवी ने बोर्ड को लिखा लेटर

बीसीसीआई से जुड़े एक सूत्र ने मंगलवार को पीटीआई से बातचीत में कहा, 'युवी ने सोमवार को बोर्ड को एक लेटर भेजा है।मुझे नहीं लगता कि बीसीसीआई उन्हें विदेश में खेलने की इजाजत नहीं देगा क्योंकि वह अब इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट ले चुके हैं।' बता दें बोर्ड मौजूदा भारतीय खिलाड़ियों को किसी भी विदेशी टी-20 लीग में खेलने की इजाजत नहीं देता। यही वजह है कि युवराज को ओवरसीज लीग में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहना पड़ा। बताते चलें पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग और जहीर खान भी रिटायरमेंट के बाद यूएई में आयोजित टी-10 लीग में खेल चुके हैं।

सहवाग और जहीर खेल चुके हैं विदेशी लीग में
इससे पहले भारतीय तेज गेंदबाज इरफान पठान कैरेबियाई प्रीमियर लीग में शामिल होने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने थे। हालांकि इरफान अभी फर्स्ट क्लाॅस क्रिकेट खेलते हैं मगर उन्होंने बीसीसीआई से इसकी परमीशन नहीं ली थी। इरफान के भाई युसुफ भी दो साल पहले बीसीसीआई से हांगकांग टी-20 टूर्नामेंट में खेलने की इजाजत मांग चुके हैं जिसे खारिज कर दिया गया था।

2011 वर्ल्ड कप के दौरान युवराज सिंह की मैदान में जा सकती थी जान


युवराज सिंह के क्रिकेट करियर के वो पल जिन्‍हें हर इंडियन क्रिकेट फैन याद रखेगा


ऐसा रहा है इंटरनेशनल करियर

युवराज सिंह ने 2003 में इंटरनेशनल करियर की शुरुआत की थी। करीब 17 साल के इंटरनेशनल करियर में युवी ने 304 वनडे खेले जिसमें 36.55 की औसत से 8701 रन बनाए। इस दौरान युवराज के बल्ले से 14 शतक और 52 अर्धशतक निकले। वहीं टेस्ट की बात करें तो युवराज को सिर्फ 40 मैच खेलने को मिले जिसमें मात्र 1900 रन बनाए। टेस्ट में युवराज के नाम 3 शतक हैं।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk